Common Activities / Events of Malwanchal University

इंडेक्स समूह संस्थान मालवांचल यूनिवर्सिटी द्वारा ओरिएंटेशन प्रोग्राम

09th December, 2022

नए कॅालेज के साथ जिंदगीं और करियर की नई शुरुआत

इंडेक्स मेडिकल कॅालेज और इंडेक्स डेंटल कॅालेज में ओरिएंटेशन प्रोग्राम

इंडेक्स समूह संस्थान मालवांचल यूनिवर्सिटी द्वारा ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित किए गए। इंडेक्स मेडिकल कॅालेज और इंडेक्स इंस्टीट्यूट आफ डेंटल साइंसेस के नए विद्यार्थियों को नियमों के साथ कॅालेज के बारे में पूरी जानकारी दी गई। इंडेक्स मेडिकल कॅालेज में ओरिएंटेशन प्रोग्राम में डीन डॅा. जीएस पटेल ने कहा कि इंडेक्स मेडिकल कॅालेज अब हिंदी में भी अपने पाठ्यक्रम की शुरुआत कर रहा है। उन्होंने कहा कि नए विद्यार्थी कॅालेज कैम्पस में अनुशासन के साथ नियमों का ध्यान रखे। इसी के साथ नए विद्यार्थी एंटी रैगिंग टीम के साथ भी समन्वय रखे। किसी भी तरह की समस्या होने पर नए छात्र सीधे अपने शिक्षक या प्रबंधन से भी मदद ले सकते है।नए कॅालेज में आपके करियर की नई शुरुआत हो रही है और छात्रों के शिक्षक ही उनके सबसे बड़े मददगार है। इस अवसर पर इंडेक्स समूह चेयरमैन सुरेशसिंह भदौरिया,वाइस चेयरमैन मयंकराज सिंह भदौरिया,डायरेक्टर आर एस राणावत,एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव ने सभी नए छात्रों को बधाई दी। कार्यक्रम में प्रो.चांसलर डॅा.संजीव नारंग,वाइस डीन डॅा.प्रेम न्याती,एंटी रैगिंग चेयरमैन डॅा.स्वाति प्रशांत सहित विभिन्न शिक्षक उपस्थित थे।

छात्रों को बताई अनुसंधान पद्धति

इंडेक्स इंस्टीट्यूट आफ डेंटल साइंसेस द्वारा बैच 2022-23 एमडीएस छात्रों के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम हुआ। इस अवसर पर इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के डीन डॅा.जीएस पटेल ने छात्रों को कॅालेज के साथ विभिन्न जानकारी दी। डॉ. वृंदा सक्सेना गवर्नमेंट ऑटोनॉमस कॉलेज ऑफ डेंटिस्ट्री, इंदौर ने शोध प्रबंध के लिए एक अच्छे विषय का चयन कैसे करें इस बारे में बताया। इंडेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंस के डीन डॉ. सतीश करंदीकर ने अनुसंधान पद्धति के महत्व बताया। इस अवसर पर डॉ राजीव श्रीवास्तव,वाइस डीन डॉ. रोली अग्रवाल,डॅा. सुपर्णा गांगुली साहा, डॉ. हिमांशु कानूनगो, डॉ. कृतिका मिश्रा आदि शिक्षक उपस्थित थे।


मालवांचल यूनिवर्सिटी प्राचीन भारत की ज्ञान परंपरा विषय पर संगोष्ठी

06th December, 2022

भारत की प्राचीन ज्ञान परंपरा समृद्ध - डॅा.विकास दवे

मालवांचल यूनिवर्सिटी प्राचीन भारत की ज्ञान परंपरा विषय पर संगोष्ठी

साहित्य अकादमी के निदेशक डॅा. विकास दवे ने छात्रों को बताया प्राचीन भारत का समृद्ध इतिहास

इंदौर। मालवांचल यूनिवर्सिटी द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत इंडेक्स मेडिकल कॅालेज सभागृह में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों को डॉ विकास दवे,निदेशक साहित्य अकादमी म प्र शासन ने प्राचीन भारत की ज्ञान परंपरा के बारे में जानकारी दी। उन्होंने भारत की प्राचीन ज्ञान परंपरा को समृद्ध बताते हुए कहा कि यह परंपरा कला संस्कृति, दर्शन, समाज शास्त्र, विज्ञान व प्रबंधन समेत विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक दृष्टिकोण देती है। हमें इस दृष्टिकोण को शिक्षा के क्षेत्र में अपनाकर राष्ट्र के विकास की प्रक्रिया को और मजबूत बनाना होगा। डॅा.दवे ने कहा कि इस आयोजन का उद्देश्य प्राचीन भारतीय ज्ञान, जो आध्यात्मिक और विज्ञानी है। ऐसे समय में सबसे ज्यादा जरूरत है कि इसे जीवन के स्वीकार किया जाए। तो नए राष्ट्र का निर्माण होगा, जिसमें भारतीयता और भारतीय मूल्यों का समावेश होगा। आदिकाल से प्राचीन भारतीय ज्ञान परंपरा रही है। भारतीय ज्ञान जीवन के हर विषय में समग्रता के साथ है। समग्र व्यक्तिव विकास के लिए आज प्राचीन भारतीय ज्ञान परंपरा को जानने व समझने की जरूरत है। खासकर वर्तमान पीढ़ी और भावी पीढ़ी को बताए जाने की भी आवश्यकता है। कार्यक्रम मालवांचल यूनिवर्सिटी के कुलपति एन के त्रिपाठी के मार्गदर्शन में आयोजित किया गया। इस अवसर पर मालवांचल यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार डॅा.एम क्रिस्टोफर,प्राचार्या डॅा.रेशमा खुराना,प्राचार्य डॅा.जावेद खान पठान,डॅा.नितिन अग्रवाल,अजय कुमार गौड़,डॅा.भानुप्रताप सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम डॅा.पूनम तोमर राणा की अध्यक्षता में हुआ।

भारत के ज्ञान को समझने के लिए आए दुनियाभर के विद्वान

उन्होंने कहा कि हमारे प्राचीन भारत की ज्ञान परंपरा अवैज्ञानिक नहीं है हमारे ग्रंथों और आश्रमों से मिली ज्ञान परंपरा के 500 वर्ष बाद पेटेंट करा लिए गए है।भारत में प्राचीन ज्ञान परंपरा के मूल में वेद,पुराण, उपनिषद है। इससे भारतीय संस्कृति व परंपराओं का जन्म हुआ है। हमारी ज्ञान परंपरा काफी समृद्ध है इससे जानने के लिए दुनियाभर के विद्वान नालंदा और तक्षशिला जैसे विवि में आए थे। हमारे देश में उन्होंने जाना कि समर्पण हमारी ज्ञान परंपरा का आधार है। संगोष्ठी की इंडेक्स समूह के चेयरमैन सुरेशसिंह भदौरिया,वाइस चेयरमैन मयंकराज सिंह भदौरिया, डायरेक्टर आर एस राणावत,एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव,डीन डॅा.जीएस पटेल ने सराहना की।


Notice Board